HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure

HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure

August 26, 2018 0 By admin
Spread the love

HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure

आप जब अपने कंप्यूटर में इंटरनेट का उपयोग तो करते होगें तो आपने कभी भी इंटरनेट के यूआरएल में HTTPS तो देखा ही होगा तो आपने कभी यह जानने चाहा की इंटरनेट पर HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure क्या है और इंटरनेट पर HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure का क्या कार्य है ?


नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने जा रह है की इंटरनेट पर HTTPS ( Hyper Text Transfer Protocol Secure) क्या है और इंटरनेट पर इसका कार्य क्या है आज हम केवल इंटरनेट पर HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure के बारे में बात करेगें और साथ ही साथ इसके फायदे भी जानेगें –

HTTP: Hyper Text Transfer Protocol
Protocol क्या है Protocol कितने प्रकार के होते है
Https – wikipedia.org

HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure

जब हम अपने कंप्यूटर में इंटरनेट पर कोई जानकारी HTTP के माध्यम से लेते है तो वो जानकारी इंटरनेट से सुरक्षित रूप से नहीं आती है,

          कहने का मतलब है की जब आप कोई भी जानकारी इंटरनेट से Http के माध्यम से प्राप्त करते हो तो उस जानकारी को कोई थर्ड पार्टी देख सकता है यानी हैकर देख सकता है और आपकी जानकारी को  हैक कर सकता है बस इसी से बचने के लिए इंटरनेट पर कुछ टेक्नोलॉजी में परिवर्तन हुआ और इंटरनेट पर Http का सेकंड version का निर्माण किया जिसका नाम HTTPS (Hyper Text Transfer Protocol Secure) है यह यूजर की जानकारी को इंटरनेट पर इन्क्रिप्ट फॉर्म यानी इंटरनेट पर बैठे हैकर से छुपकर लेकर आपके सामने आता है इसका सबसे ज्यादा उपयोग गोपनीय जानकारी देने-लेने के लिए उपयोग किया जाता है।

ध्यान दे – आप जब भी इंटरनेट पर कोई प्राइवेसी वाला कार्य कर रहे है या फिर कोई पेमेंट प्रक्रिया का उपयोग कर रहे है तो आप हमेशा अपने कंप्यूटर में इंटरनेट पर केवल वही वेबसाइट का उपयोग करें जिस वेबसाइट में  HTTPS :(Hyper Text Transfer Protocol Secure) जुड़ा हो आप कभी भी इंटरनेट पर इस प्रकार की वेबसाइट का उपयोग ना करें जिसमें HTTPS ना जुड़ा हो, 

   यदि  आप HTTPS (Hyper Text Transfer Protocol Secure ) वाली वेबसाइट का उपयोग करते है तो आप अपने कंप्यूटर में इंटरनेट पर एक Secure ब्राउज़िंग करते है जिससे इंटरनेट पर आपकी प्राइवेसी विल्कुल Secure रहती है.

HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure का निर्माण बढ़ते साइबर क्राइम को देखते हुये किया आज इंटरनेट पर तमाम हैकर स्पैमर दुनियाँ भर के देशों में लगातार लाखों कंप्यूटर हैक करे रहे है जो दुनियाँ की प्रत्येक सरकार के लिए एक चुनौती बन गई है.

HTTPS : Hyper Text Transfer Protocol Secure के फायदे

HTTPS  Hyper Text Transfer Protocol Secure वाली वेबसाइट का उपयोग करने से आप इंटरनेट पर एक Secure ब्राउज़िंग करते है। 

यदि वेबसाइट में HTTPS (Hyper Text Transfer Protocol Secure) है तो आप इंटरनेट पर रुपयों जैसे लेन-देन कार्य कर सकते है बिना चिंता के।   

HTTPS  वेबसाइट से जुडी होने से आप कोई भी हैकर आपकी जानकारी को हैक नहीं कर सकता है।  

यदि आप कोई वेबसाइट या ब्लॉग का उपयोग कर रहे है तो आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग में HTTPS ( Hyper Text Transfer Protocol Secure )का उपयोग जरूर करे यह एक SEO फ्रेंडली है और यह गूगल पर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को Rank करने में आपकी हेल्प करते है।  

इंटरनेट पर गूगल भी उन्ही वेबसाइट या ब्लॉग को अपनी टॉप रैंकिंग में प्राथमिकता देता है जिसकी वेबसाइट या ब्लॉग में HTTPS  हो।  

आशा करते है की HTTPS (Hyper Text Transfer Protocol Secure )क्या है और इंटरनेट पर इसका कार्य क्या है और इसके फायदे क्या-क्या है आप यह अच्छी तरीके से जान गये होंगे आप इसी तरह की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर विजिट करते रहिये।